बाज़ आ जाओ ए खामोशियो

बाज़ आ जाओ ए खामोशियो,
बरसों से लफ्ज़ ए सैलाब क़ैद है मेरे लबों में

शुभ रात्रि
Good Night!!

Related Post
Recent Posts

This website uses cookies.