दौड़ने का साहस नहीं जुटाओगे

Posted on

chanakya anmol vachan

 

“जब तक तुम दौड़ने का साहस नहीं जुटाओगे, तुम्हारे लिए प्रतिस्पर्धा मे जीतना असंभव बना रहेगा।”

||चाणक्य||

Leave a Reply