Best Holi Messages Hindi

होली एक प्रेम और सद्भाव का त्योहार है जिसमे सब अपने पुराने गिले शिकवे भुला कर सबको गले से लगाते हैं, होली वसंत ऋतु में फाल्गुन मास की पुर्णिमा को मनाया जाने वाला एक रंगों भरा त्योहार है, जो सम्पूर्ण भारत में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। होली पर लोग तरह तरह की मिठाइयाँ और व्यंजन बनाते हैं।

 

हमारे भारतीय साहित्य में भी होली पर कवियों ने कविताएं, लोक गीत आदि लिखे हैं

 

जैसे अमीर खुसरो लिखते हैं

 

दैया री मोहे भिजोया री शाह निजाम के रंग में।
कपरे रंगने से कुछ न होवत है
या रंग में मैंने तन को डुबोया री
पिया रंग मैंने तन को डुबोया
जाहि के रंग से शोख रंग सनगी
खूब ही मल मल के धोया री।
पीर निजाम के रंग में भिजोया री।

 

भक्तिकाल के कवि घनानन्द कुछ इस प्रकार होली का वर्णन करते हैं

 

होरी के मदमाते आए, लागै हो मोहन मोहिं सुहाए
चतुर खिलारिन बस करि पाए, खेलि-खेल सब रैन जगाए
दृग अनुराग गुलाल भराए, अंग-अंग बहु रंग रचाए
अबीर-कुमकुमा केसरि लैकै, चोबा की बहु कींच मचाए
जिहिं जाने तिहिं पकरि नँचाए, सरबस फगुवा दै मुकराए
’आनँदघन’ रस बरसि सिराए, भली करी हम ही पै छाए

 

शृंगार रस के प्रसिद्ध कवि भारतेंदु हरिश्चंद्र जी लिखते हैं

 

तेरी अँगिया में चोर बसैं गोरी
इन चोरन मेरो सरबस लूट्यौ मन लीनौ जोरा-जोरी
छोड़ि दे ईकि बंद चोलिया पकरै चोर हम अपनौ री
‘हरीचंद’ इन दोउन मेरी नाहक कीनी चित चोरी री

देखो बहियाँ मुरक मेरी ऐसी करी बरजोरी
औचक आय धरी पाछे तें लोकलाज सब छोरी
छीन झपट चटपट मोरी गागर मलि दीनी मुख रोरी
नहिं मानत कछु बात हमारी कंचुकि को बँद खोरी
एई रस सदा रसि को रहिओ ‘हरीचंद’ यह जोरी

 

Holi wishes, Holi messages, Holi sms, Holi quotes in hindi, Holi shayari on images, Best Holi Messages Hindi

This div height required for enabling the sticky sidebar
This div height required for enabling the sticky sidebar