Home / Independence Day / तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं

तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं

tirange-se-khubsurat-koi-kafan-nahi

ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं,
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं.

जय हिन्द,  वंदे मातरम

Happy Independence Day

Comment

Check Also

independence day shayari

जहाँ मज़हब भाईचारा है वो वतन इंडिया हमारा है

जिसका ताज हिमालय है जहाँ बहती गंगा है जहाँ अनेकता में एकता है ‘सत्यमेव जयते’ …