Home / Janmashtami / संभु धरै ध्यान जाकौ जपत जहान सब – रसखान

संभु धरै ध्यान जाकौ जपत जहान सब – रसखान

sambhu-dhare-dhyan-jako-japat

संभु धरै ध्यान जाकौ जपत जहान सब,
ताते न महान और दूसर अब देख्यौ मैं।
कहै रसखान वही बालक सरूप धरै,
जाको कछु रूप रंग अबलेख्यौ मैं।

कहा कहूँ आली कुछ कहती बनै न दसा,
नंद जी के अंगना में कौतुक एक देख्यौ मैं।
जगत को ठांटी महापुरुष विराटी जो,
निरजंन, निराटी ताहि माटी खात देख्यौ मैं।

रसखान

जय श्री कृष्ण
Happy Krishna Janmastami

Comment

Check Also

shri-krishna-janmashtami-message

छीन लिया मेरा मन मुरली बजाकर

यमुना के तट पर गौवें चराकर छीन लिया मेरा मन मुरली बजाकर हृदय हमारे बसो …