मुस्कुराने की आदत भी कितनी महंगी पड़ी

/
2 Views

[box type=”shadow” align=”” class=”” width=””]

muskurane ki aadat

मुस्कुराने की
आदत भी कितनी महंगी पड़ी
हमको….
भुला दिया सबने ये कहकर की तुम तो
अकेले भी खुश रह लेते हो…..

शुभ रात्रि
Good Night

[/box]

This div height required for enabling the sticky sidebar