Kabir Das

Kabir Das Ke Dohe, Kabir Das Amritvani in Hindi – कबीरदास भक्ति काल के प्रमुख कवियों में से एक हैं जिन्होने अपने दोहे, अमृतवाणी और साखियों के माध्यम समाज में फैली कुरीतियों और अंधविश्वास के खिलाफ आवाज़ उठाई

शब्द संभाले बोलिए शब्द के हाथ न पांव

शब्द संभाले बोलिए, शब्द के हाथ न पावं एक शब्द करे औषधि, एक शब्द करे घाव कबीरदास Read More

नथनी दिनी यार ने तो चिंतन बारम्बार

नथनी दिनी यार ने तो चिंतन बारम्बार, और नाक दिनी करतार ने प्यारे उनको तो दिया बिसार 🌻कबीरदास🌻 Read More

This website uses cookies.