Philosophical QuotesRajneesh Osho

प्रेम को प्रार्थना बनाओ

osho ke anmol vachan

 

प्रेम से भरी हुई आँख जहाँ पड़ेगी
वहीं मंदिर निर्मित हो जाएंगे
जहाँ प्रेम से भरा हुआ हृदय धड़केगा,
वहीं एक और नया काबा बन जाएगा,
एक नयी काशी पैदा होगी,
क्योंकि जहाँ प्रेम है,
वहाँ परमात्मा प्रकट हो जाता है।
प्रेम भरी आँख कण-कण मे
परमात्मा को देख लेती है।
**प्रेम को प्रार्थना बनाओ**

*ओशो*

Tags

Leave a Reply

Back to top button
Close