Home / Rajneesh Osho / असली ज्ञानी अपने को बनाता है

असली ज्ञानी अपने को बनाता है

Osho-dhara

🌹दुनिया में और सब कलाएं बाहर हैं।
मूर्तिकार मूर्ति बनाता है, चित्रकार चित्र बनाता है,
गीतकार गीत बनाता है।
लेकिन बुद्ध कहते हैं,
असली ज्ञानी अपने को बनाता है।
मूर्ति को नहीं गढ़ता, अपने को गढ़ता है।
चित्र को नहीं रंगता, अपने को रंगता है।
गीत को नहीं सजाता, अपने को सजाता है।
अपने सौंदर्य को निखारता है।
बड़े से बड़ा स्रष्टा वही है,
जो अपने को सृजन दे देता है;
जो अपने को नया जन्म दे देता है।🌹

Read More Rajneesh Osho quotes in Hindi

Comment

Check Also

osho-ke-vichar-sukh-dukh-par

दुख उधार का है आनंद स्वयं का है

  दुख उधार का है, आनंद स्वयं का है। आनंदित कोई होना तो अकेले भी …