सुख दुख तो मेहमान है

Posted on

Aaj ka suvichar

 

सुख दुःख तो अतिथि हैं।
बारी बारी आयेंगे चले जायेंगे,
यदि वो नहीं आयेंगे तो,
हम अनुभव कहाँ से लायेंगे.

Leave a Reply