Home / Suvichar / डटे रहना पर कभी घबराना नहीं

डटे रहना पर कभी घबराना नहीं

 

Aaj ka suvichar

जहां कदर नहीं वहां जाना नहीं,
जो पचता नहीं, वो खाना नहीं।

जो सत्य पर रूठे उसे, मनाना नहीं,
जो नज़रों से गिरे, उठाना नहीं।

मौसम सा जो बदले, दोस्त बनाना नहीं,
ये तकलीफें तो जिंदगी का हिस्सा हैं,

डटे रहना पर कभी घबराना नहीं।

 

🌹🌹Suvichar🌹🌹

Comment

Check Also

Happy Father's Day

नसीब वाले हैं जिनके सर पर पिता का हाथ होता है – Happy Father’s Day

Comment Related Postsहाथ की शोभा दान से है। सिर की शोभामोह में हम बुराइयाँ नहीं …

Leave a Reply