स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार

[box type=”shadow” align=”” class=”” width=””]

Swami-Vivekananda

अगर धन दूसरों की भलाई करने में मदद करे, तो इसका कुछ मूल्य है, अन्यथा, ये सिर्फ बुराई का एक ढेर है, और इससे जितना जल्दी छुटकारा मिल जाये उतना बेहतर है.[/box]

[box type=”shadow” align=”” class=”” width=””]

 

जब तक जीवित हो तब तक अपने और दूसरों के अनुभवों से सीखते रहना चाहिए. क्योंकि अनुभव सबसे बड़ा गुरु होता है.[/box]

[box type=”shadow” align=”” class=”” width=””]

 

लगातार पवित्र विचार करते रहें
बुरे संस्कारों को दबाने के लिए
एक मात्र समाधान यही है।[/box]

[box type=”shadow” align=”aligncenter” class=”” width=””]

hindi quotes on education

ज्ञान या शिक्षा एक ऐसा मार्ग है, जो हमें सत्यासत्य के साथ हिताहित का निर्णय करने की कसौटी प्रदान करता है।

 

Gyaan ya shiksha ek aisa marg hai jo hame styaastya ke saath hitaahit ka nirnay karne ki kasauti pradan karta hai[/box]

[box type=”shadow” align=”” class=”” width=””]ब्रह्मांण्ड की सारी शक्तीयां पहले से हम में है, वह हम ही है जो अपनी आंखों पर हाथ रख लेते हैं और फिर रोते है कि कितना अन्धकार है! – स्वामी विवेकानंद [/box]
[box type=”shadow” align=”” class=”” width=””]स्वयं में बहुत सी कमियों के बावजूद यदि मैं स्वयं से प्रेम कर सकता हूँ, तो दूसरों में थोड़ी बहुत कमियों की वजह से उनसे घृणा कैसे कर सकता हूँ ? – स्वामी विवेकानंद [/box]
[box type=”shadow” align=”” class=”” width=””]जितना बड़ा संघर्ष होगा, जीत उतनी ही शानदार होगी – स्वामी विवेकानंद [/box]
[box type=”shadow” align=”” class=”” width=””]आप ईश्वर में तब तक विश्वास नहीं कर पाएंगे जब तक आप अपने आप में विश्वास नहीं करते|- स्वामी विवेकानंद [/box]
[box type=”shadow” align=”” class=”” width=””]वह नास्तिक है, जो अपने आप में विश्वास नहीं रखता | – स्वामी विवेकानंद [/box]

Leave a Comment

This div height required for enabling the sticky sidebar