व्यक्तित्व में कुएं जैसी गहराई और विचारों में शुद्धता भी होनी चाहिए

मनुष्य का बड़ा होना अच्छी बात है.,
लेकिन उसके व्यक्तित्व में कुएं जैसी गहराई और
विचारों में शुद्धता भी होनी चाहिए
तभी वह महान बनता है…!!

manushya ka bada hona achi baat hai
lekin uske vyaktitv me kuen jaisi
gaharai aur vicharon me shudhta bhi honi
chahiye tabhi vah mahan banta hai

Related Post
Recent Posts

This website uses cookies.